Mandir Mandir Bhatkaye Lyrics From Ghar Ki Laaj 1979 [English Translation]

Mandir Mandir Bhatkaye Lyrics: Presenting the Hindi song ‘Milte Rahiye’ from the Bollywood movie ‘Ghar Ki Laaj’ in the voice of Mohammed Rafi. The song lyrics was penned by Ravindra Jain, and the music is also composed by Ravindra Jain. It was released in 1979 on behalf of Saregama.The Music Video Features Moushumi Chatterjee & Sanjeev KumarArtist: Mohammed RafiLyrics: Ravindra JainComposed: Ravindra JainMovie/Album: Ghar Ki LaajLength: 4:34Released: 1979Label: Saregama

Mandir Mandir Bhatkaye Lyrics

ओम शांति ओम शांति
ओम शांति शांति शांति
ओम शांति ओम शांति
ओम शांति शांति शांति
मन में बसी जो मुरात
मन में बसी जो मुरात
कही अंत नज़र न आये
मंदिर मंदिर भटकाये
मंदिर मंदिर भटकायेहरे रामा हरे रामा
रामा रामा हरे हरे
हरे कृष्ण हरे कृष्ण
कृष्ण कृष्ण हरे हरे
हरे रामा हरे रामा
रामा रामा हरे हरे
हरे कृष्ण हरे कृष्ण
कृष्ण कृष्ण हरे हरेअसफल हो मेरे आरती वंदन
व्यर्थ हो मेरी पूजा
इसके सिवा अपराध का मेरे
दंड नहीं कोई दूजा
चैन की अब यही सूरत
चैन की अब यही सूरत
के मुझे चैन कभी न आये
मंदिर मंदिर भटकाये
मंदिर मंदिर भटकायेजिसने मुझे भगवन बनाया
मैंने उसे ठुकराया
इक अपने के खो जाने से
सब जग लगे पराया
पश्चाताप की अग्नि
पश्चाताप की अग्नि
मुझको दिन रात जलाये
मंदिर मंदिर भटकाये
मंदिर मंदिर भटकायेओम शांति ओम शांति
ओम शांति शांति शांति
ओम शांति ओम शांति
ओम शांति शांति शांति
वो देवी एक बार क्षमा की
बिख यदि मुझे दे दे
तो शयद ये भूल ह्रदय को
बन कर सुल न छेड़े
काश किसी मंदिर से
काश किसी मंदिर से
मेरी मुक्ति मुझे मिल जाये
मंदिर मंदिर भटकाये
मंदिर मंदिर भटकाये
मन में बसी जो मुरात
मन में बसी जो मुरात
कही अंत नज़र न आये
मंदिर मंदिर भटकाये
मंदिर मंदिर भटकाये

Mandir Mandir Bhatkaye Lyrics English Translation

ओम शांति ओम शांति
Om Shanti Om Shanti
ओम शांति शांति शांति
Om Shanti Shanti Shanti
ओम शांति ओम शांति
Om Shanti Om Shanti
ओम शांति शांति शांति
Om Shanti Shanti Shanti
मन में बसी जो मुरात
Murat who settled in the mind
मन में बसी जो मुरात
Murat who settled in the mind
कही अंत नज़र न आये
no end in sight
मंदिर मंदिर भटकाये
wander the temple
मंदिर मंदिर भटकाये
wander the temple
हरे रामा हरे रामा
Hare Rama Hare Rama
रामा रामा हरे हरे
Rama Rama Hare Hare
हरे कृष्ण हरे कृष्ण
Hare Krishna Hare Krishna
कृष्ण कृष्ण हरे हरे
Krishna Krishna Hare Hare
हरे रामा हरे रामा
Hare Rama Hare Rama
रामा रामा हरे हरे
Rama Rama Hare Hare
हरे कृष्ण हरे कृष्ण
Hare Krishna Hare Krishna
कृष्ण कृष्ण हरे हरे
Krishna Krishna Hare Hare
असफल हो मेरे आरती वंदन
fail my aarti vandan
व्यर्थ हो मेरी पूजा
my worship is in vain
इसके सिवा अपराध का मेरे
except for my crime
दंड नहीं कोई दूजा
no penalty no one else
चैन की अब यही सूरत
Now this is the face of peace
चैन की अब यही सूरत
Now this is the face of peace
के मुझे चैन कभी न आये
that i never get peace
मंदिर मंदिर भटकाये
wander the temple
मंदिर मंदिर भटकाये
wander the temple
जिसने मुझे भगवन बनाया
who made me god
मैंने उसे ठुकराया
i rejected him
इक अपने के खो जाने से
from the loss of one’s own
सब जग लगे पराया
all the world is alien
पश्चाताप की अग्नि
fire of repentance
पश्चाताप की अग्नि
fire of repentance
मुझको दिन रात जलाये
burn me day and night
मंदिर मंदिर भटकाये
wander the temple
मंदिर मंदिर भटकाये
wander the temple
ओम शांति ओम शांति
Om Shanti Om Shanti
ओम शांति शांति शांति
Om Shanti Shanti Shanti
ओम शांति ओम शांति
Om Shanti Om Shanti
ओम शांति शांति शांति
Om Shanti Shanti Shanti
वो देवी एक बार क्षमा की
that goddess once forgave
बिख यदि मुझे दे दे
if you give it to me
तो शयद ये भूल ह्रदय को
So maybe this is the mistake of the heart
बन कर सुल न छेड़े
don’t settle by being
काश किसी मंदिर से
I wish from a temple
काश किसी मंदिर से
I wish from a temple
मेरी मुक्ति मुझे मिल जाये
get my salvation
मंदिर मंदिर भटकाये
wander the temple
मंदिर मंदिर भटकाये
wander the temple
मन में बसी जो मुरात
Murat who settled in the mind
मन में बसी जो मुरात
Murat who settled in the mind
कही अंत नज़र न आये
no end in sight
मंदिर मंदिर भटकाये
wander the temple
मंदिर मंदिर भटकाये
wander the temple

Leave a Comment